Google+ Followers

सोमवार, 24 जुलाई 2017

आज की राजनीती में खासकर सत्ता को महाभारत का केवल शिखंडी आदर्श भा गया है 

जब चाहते है किसी भी चीज को शिखंडी बना आगे कर देते हैं 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें