Google+ Followers

गुरुवार, 18 जुलाई 2013

समाजवादी पार्टी के रास्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित सभी प्रमुख नेताओ ने ये संकल्प कर लिया है और रणनीति भी बनाना शुरू कर दिया है की उत्तर प्रदेश में जनता के हर वर्ग के समर्थन से भारी बहुमत से आई सरकार को अब इस तरह चलाना है की अगले चार / पांच चुनाव कोई हरा ही नहीं सके ।
जब संकल्प हुआ है तो कार्य भी वैसे ही होंगे , संगठन भी उसी तरह चलेगा और सरकार भी वैसे ही चलेगी । चाहे सरकार में बैठे लोग हो ,प्रशासन और पूरे तंत्र में बैठे लोग हो या संगठन में सभी को इस तरह बदलना ही होगा की समाजवादी पार्टी डॉ लोहिया ,जयप्रकाश ,राजनारायण ,कर्पूरी ठाकुर ,रामसेवक यादव ,जनेश्वर मिश्र के सपनों को पूरा करे और बंगाल की पुर्व सरकार की तरह पच्चीस तीस साल तक तो कोई इसे हिला ही नहीं सके ।
मुख्यमंत्री की नयी सोच ,नया चिन्तन ,नए सपने और उत्तर प्रदेश को देश का सबसे अच्छा प्रदेश बनाने का संकल्प ,, नेता जी का अनुभव और मार्गदर्शन , समाजवादी आन्दोलन के पुरोधा रहे चिन्तको के सपने , रास्ट्रपिता महत्मा गाँधी की चिंताएं सबको गूथ कर एक मिटटी तैयार होगी और उससे उत्तर प्रदेश को महान प्रदेश बनाने का काम शुरू हो चूका है और और मजबूती से इस नए संकल्प के साथ होगा ।
आने वाले समय में बहुत सी चीजें दिखलाई पड़ेंगी इस दिशा में बढाती हुयी । ये लोगो को तय करना होगा चाहे पार्टी के हो या प्रशासन तंत्र के की कौन लोग इस संकल्प के साथ चलना चाहते है और कौन नहीं । पर ये तय है की ये धारा पूरे वेग से बहेगी और जो इसके सामने खड़ा होने और इसे रोकने की कोशिश करेगा उसका वही होगा जो ऐसी स्थितियों में होता है ।
संगठन के लोग और सरकार के लोग ये संकल्प समझ भी ले और इसका जज्बा भी पैदा कर लें की ऐसा काम कर के दिखाना है की अब अगले २५ साल जाना ही नहीं है । जो भी समर्थक है चाहे कही व्यवस्था में बैठे हो पुलिस में बैठे हो या जनता में सभी को नेता जी और मुख्यमंत्री जी के इस संकल्प को पूरा करने का संकल्प लेना ही होगा ।

बुधवार, 10 जुलाई 2013

भारत के न्यायलय का बड़ा फैसला आया है ।आदर्शवादी समाज के लिए बहुत अच्छा पर लोकतंत्र पुलिस का बंधक तो नहीं हो जायेगा

शुक्रवार, 5 जुलाई 2013

मोदियापा

खूब मोदियापा हो रहा है रास्ट्रवादी पार्टी में । भाजपा नेता राघव जी अपने नौकर से करते थे दुराचार, सीडी सामने आने के बाद मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया । ज्ञान, शील वाली पार्टी का एक और कारनामा ,पहले कर्नाटक का विधान सभा का दृश्य तो यद् ही होगा दोस्तों ,वही धार्मिक वीडियो देखने वाला मोबाइल पर और संघ के महत्वपूर्ण प्रचारक और स्तम्भ और बीजेपी के रास्ट्रीय महासचिव की सी डी भी यद् होगी उसी पर उन्हें पद छोड़ना पड़ा था ।
मेरा केवल इतना कहना है की दूसरो पर राशन पानी लेकर टूट पड़ने वाले रास्त्रवादियो तुम्हारी चलनी में सैकड़ो छेद हैं ,पहले अपने छेड़ बंद करो । फिर अफवाह का हथियार हो या दंगे का या नफरत का जो खाली जमाखोरी ,मिलावटखोरी और मुनाफाखोरी के पैसे से चलती है सैनिको के ताबूत के पैसे से चलती है और अभी छोड़ देता हूँ ।
हाँ तो एक और रास्ट्रवादी योन शोषण के आरोप में शहीद हुए ।  जय हिन्द ।